AdSense की कमाई बढ़ाने के लिए 18 आसान तरीके

ऑनलाइन विज्ञापन का क्षेत्र बड़ी तेजी से बदलता जा रहा है। बड़े आकार के विज्ञापन, अच्छी क्वालिटी का वीडियो, content से मिलते झूलते ads, mobile interstitials, native ads और Adblock plus भी जल्द ही खुद के नए विज्ञापन नेटवर्क के साथ आने वाला है। इन सभी को देखते 2016 online ad ecosystem के लिए काफी चुनौतियाँ देने वाला लग रहा हैं। AdSense अभी भी publishers द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला पसंदीदा नेटवर्क है, और आज हम इसी बारे में बात करेंगे कि किस प्रकार आप AdSense का इस्तेमाल जारी रखते हुए इसका किस प्रकार बेहतर इस्तेमाल कर सकते है और इसका optimization करके ज्यादा revenue कमाई कर सकते हैं। यहाँ आगे आप जानेंगे कि किस प्रकार आप कुछ आसान तरीकों का इस्तेमाल कर अपनी AdSense कमाई को बढ़ा सकते है!

1. क्या आप 336×280 ad unit का इस्तेमाल कर रहे है?

मैं अपने सभी publisher दोस्तों को और ब्लॉग में 336×280 आकार के ad unit का इस्तेमाल करने की सलाह देता हूँ, जैसा कि 300×250 और 336×280 के ad size की bid काफी ऊँची लगती है तो इससे आपके ad units का CPC काफी बढ़ जाता है। यदि आप 300×250 ad unit का इस्तेमाल कर रहे है या इससे कम आकार का तो इसे बदल कर  336×280 कर लें और आप अपने कुल AdSense revenue में बढ़ोतरी होते हुए देखेंगे। हमने 80% से अधिक मामलों में इस छोटे से बदलाव से revenue को बढ़ते हुए देखा है। वहीं 336×280 ad unit का CTR भी आकार में बड़े होने के कारण 300×250 से अधिक होता है। कुछ मामलों में जब आपकी वेबसाइट का web-layout काफी sleek होता है और ads मुख्यतः technology पर आधारित होते है ऐसे में 300×250 ad unit का CTR अधिक हो सकता है। अन्यथा 336×280 का प्रदर्शन 300×250 से बेहतर होता है और यह आपके AdSense से मिलने वाले revenue को 20% तक बढ़ा सकता हैं।

2. 300×600 ad unit का इस्तेमाल करना

बहुत से advertisers की पहली पसंद 300×600 ad unit होती है और परिणामस्वरूप आप इस ad unit के लिए अच्छा CPC देख सकते है, असल में इस ad size के लिए अधिकतम CPC मिलता है। हालांकि आने देखा होगा कि इस ad unit से मिलने वाला कुल revenue ज्यादा नहीं होता है। यह सही है कि यदि आपके traffic का बड़ा हिस्सा अगर मोबाइल यूजर का है तो इसका फायदा नहीं होगा क्योंकि यहाँ इस ad unit का इस्तेमाल मुख्यतः sidebar में किया जाता है तो इससे यह यूनिट content के बाद काफी नीचे चली जाती है तो मोबाइल ट्रैफिक से इस यूनिट पर अच्छे CTR की अपेक्षा ना ही रखें। लेकिन इस ad unit का इस्तेमाल कर आप desktop traffic से अच्छा CTR और CPC पा सकते हैं। यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग WordPress पर बना है तो आप Advanced ads WordPress plugin का इस्तेमाल कर केवल डेस्कटॉप यूज़र्स के लिए 300×600 को enable कर सकते है, यह plugin आपके ट्रैफिक को उनके डिवाइस के आधार पर विज्ञापन दिखाता हैं।

3. link units का इस्तेमाल

Links units आपको अतिरिक्त revenue दिला सकती है। मैं आपको पोस्ट के content के बीच में 3 link units का इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा जिससे कि इस पर अच्छा CTR मिल सके। मैंने ऐसी वेबसाइट देखी है जिनका लगभग 60% और उससे ज्यादा revenue link unit से आता हैं। education, home finance, passport इत्यादि विषयों पर आधारित वेबसाइट link ads की सहायता से अच्छी कमाई कर सकते हैं। मैं आपको 3 3 link unit की सलाह दूंगा आप एक 200×90 यूनिट से शुरुआत कर सकते हैं।

4. आपके Ad units के प्रदर्शन पर ध्यान रखें

AdSense अपने advertisers को text, image, rich media और video ads में से अपने पसंदीदा फॉर्मेट चुनने का मौका देता हैं। सभी प्रकार के विज्ञापन हर तरह की publisher site पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते है। हमेशा अपने लिए अच्छे परिणाम वाला ad type खोजते रहें, और इसके लिए आप अपने AdSense अकाउंट की सहायता से experiment शुरू करके ad type और units के performance पर ध्यान रख सकते हैं। हमने बहुत सी वेबसाइट ददेखी है जिनके लिए text ad यूनिट image और flash ads से दोगुना revenue बनाते है। साथ ही कुछ वेबसाइट में image और flash ads टेक्स्ट एड्स से 2-3 गुना revenue बनाते है। कुल मिलाकर आपको इसके लिए एक बार समय लगाकर खोजना होगा कि विज्ञापन का कौनसा तरीका आपके लिए अच्छे से काम करता है और सबसे अच्छे वाले का चुनाव करना होगा। इसके लिए AdSense में लॉग इन करें और Performance Reports> Advanced reports> Ad Type पर जाएँ!

आप ऊपर रिपोर्ट में देख सकते है, मेरे ब्लॉग के लिए rich media/image ads का RPM text ads से दोगुना है, तो अब समय आ गया है कि मुझे अपने ब्लॉग से text ads हटा देने चाहिए।

5. Ad Placements और Ad Colors

AdSense ads से अच्छा revenue पाने में सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा ad placement है। Optimized ad placements आपके adsense revenue को 50% तक बढ़ा सकता है। AdPushup एक टूल है जिसकी सहायता से आप अलग अलग ad placements, ad colors और  ad sizes का इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही इनका system algorithmic और machine learning का इस्तेमाल कर आपके ब्लॉग के लिए सबसे अच्छा optimized setup खोजता है जो publisher के  revenue और user experience दोनों के लिहाज से बेहतरीन हो। इसकी सहायता से आप desktop, mobile, tablet traffic ही नहीं बल्कि अलग अलग देशों के traffic के लिए अलग अलग ad layouts के साथ साथ अलग अलग रंगों का इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं।

6. Page-level ads आपके लिए अतिरिक्त कमाई में मदद कर सकते हैं

ज्यादा तो नहीं, लेकिन page-level ads आपके लिए कुछ डॉलर कमाने में सहायता कर सकते है। मैं आपको interstitial ad unit के इस्तेमाल की सलाह दूंगा क्योंकि इनका CTR काफी अच्छा होता हैं। मैं आपको इसका इस्तेमाल करने का जोर नहीं दे रहा हूँ, लेकिन यदि आपने इसका इस्तेमाल कभी नहीं किया है तो एक बार करके जांच सकते है, क्या पता आपको इसके परिणाम पसंद आये।

7. Matched Content feature आपके page views और revenue को बढ़ाने में सहायता कर सकता हैं

Matched content के साथ आप अपने content पर आप उपयुक्त विज्ञापन दिखाकर अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं। साथ ही यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के page views को भी बढ़ाने में सहायता करता है, फलस्वरूप हर session से अतिरिक्त कमाई हो सकती हैं। हालांकि matched content में इस्तेमाल होने वाले ads के द्वारा आपको बहुत ज्यादा CPC नहीं मिल पायेगा, लेकिन याद रहे यह अभी भी प्रयोग हो रहा है और गूगल नयी चीजों पर लगातार खोज करता रहता है और इसका इस्तेमाल करना आपके वेबसाइट के user engagement को बढ़ा देता हैं।

8. आपके Top exit pages को Interlink करें

इसमें Google analytics आपको exit pages को खोजने में सहायता कर सकता है। ये वे pages है जहाँ से यूजर आपकी वेबसाइट को छोड़ देते हैं। इन पेज को अपनी ही वेबसाइट के रोचक और ज्यादा देखे जाने वाले पेज पर भेज कर आप एक बड़े हिस्से को अपनी ही वेबसाइट पर रख सकते हैं। इस तरह पूरी वेबसाइट में inter-linking करना काफी थकाने वाला काम हो सकता है लेकिन उतना ही फायदेमंद होगा। यदि यूजर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा समय बिताता है तो आपका औसत revenue बेशक बढ़ेगा।

9. साइड बार में Sticky 300×250 ad का इस्तेमाल

यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर एक अच्छी मात्रा में डेस्कटॉप ट्रैफिक आता है, तो मैं आपको साइड बार में एक sticky 300×250 ad unit इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा। Sticky ads केवल sub-AdX एप्रूव्ड अकॉउंट द्वारा ही इस्तेमाल किया जा सकता है। आप  गूगल AdSense के Partners की सहायता से sub-AdX account के लिए apply कर सकते हैं। एक sticky 300×250 ad unit इस्तेमाल करने से आपका कुल RPM बढ़ जायेगा। हालांकि यह बहुत ज्यादा फर्क तो नहीं आएगा लेकिन जितना भी है कुछ ज्यादा कमाई होना तो हमेशा अच्छा ही रहता है।  

10. Custom Search का इस्तेमाल करना

गूगल द्वारा दिए जाने वाले custom search box का इस्तेमाल ना केवल आपकी वेबसाइट के search results की क्वालिटी को बढ़ाएग, साथ ही आप इससे AdSense for search के द्वारा कमाई भी कर सकते है। यदि आपकी वेबसाइट high paying niche और engaging है तो मैं आपको अभी search box लगाने की सलाह दूंगा। यह ना केवल आपके वेबसाइट के user experience और navigation को बेहतर बनायेगा बल्कि साथ ही adsense revenue भी बढ़ाएगा। सभी बड़ी वेबसाइटों एयर ब्लॉग में publishers ने search box इंस्टॉल मर रखा है क्योंकि वे जानते है कि कुछ अतिरिक्त डॉलर आपके खाते में आने वाले हैं।

11. Media Query का इस्तेमाल

Media query की सहायता से publishers अलग अलग आकार की ad unit का इस्तेमाल कर सकते है जो visitor के device के अनुसार बदलती है। एक डेस्कटॉप विजिटर 600×300 ad size को आसानी से देख सकता है वहीं मोबाइल विजिटर के लिए 336×280, 300×250 या 250×250 सही रहती है, साथ ही इसमें स्क्रीन की चौड़ाई भी काफी महत्वपूर्ण रहती है। ऐसा करने से ना केवल user experience बेहतर होता है बल्कि बड़े आकार के विज्ञापनों के लिए advertisers भी अच्छी कीमतें चुकाने को तैयार हो जाते हैं क्योंकि यह उनके लिए अच्छे परिणाम देते हैं। इसके बारे में मैं एक पूरी विस्तृत पोस्ट जल्द ही लिखूंगा जिसका लिंक यहाँ शामिल कर दूंगा।

12. क्या आपने 970×250 ad size के इस्तेमाल के बारे में सोचा है

970×250 एक बहुत ही powerful ad size है जो खासकर lifestyle, e-commerce, shopping और news sites के लिए बेहतर रहती है। जैसा कि इस विषय के लिए बहुत सारे advertisers होते है, और इस ad unit की inventory काफी छोटी है। ऐसे में advertisers इन ad units के लिए ज्यादा कीमत भी चूका देते हैं। यदि आप मेरे से पूछो तो मैं  custom 970×280 ad unit के लिए जाऊंगा क्योंकि इससे 970×250, 300×250 और  336×280 यूनिट भी शामिल हो जायेगी।

13. आपके इस्तेमाल किये गए Keywords को थोड़ा सही करें

बहुत से publishers अपने पहले से लिखे हुए पोस्ट में बदलाव करते रहते है और उनमें high performing keywords का इस्तेमाल करके उनके ads के CPC बढ़ाने की कोशिश करते है। ध्यान रहे इनमें से अधिकतर पोस्ट सर्च रैंक में पहले से ही काफी ऊपर indexed होते है और छोटे से बदलाव भर से ही उनकी कमाई कई हद तक बढ़ जाती हैं। यह करना सही में एक अच्छा सुझाव है जिसका मैं भी काफी ज्यादा इस्तेमाल करता रहता हूँ!

14. कम paying categories और Advertisers को ब्लॉक करना

कभी कभी कम भी अच्छा होता है! कई बार बहुत आपकी वेबसाइट पर डेटिंग या गेम्स वाले बेकार ads आपकी वेबसाइट पर दिखाई देना शुरू हो जाते है। इन ads का CPC कम होता है। यदि आपके पास अच्छा refined user-base है और traffic भी अच्छी संख्या में आता है तो आप अपनी वेबसाइट के content से मेल नहीं खाते हुए ads को ब्लॉक कर सकते हैं। कभी कभी, इन ads को ब्लॉक कर देने से आपकी वेबसाइट पर केवल quality और high paying ads दिखाई देंगे जिससे आपका CTR भी बढ़ जायेगा और लोग इन पर आसानी से क्लिक भी करेंगे।

15. अपनी AdSense Revenue Profile का विश्लेषण करें

आपकी adsense revenue profile आपके ads के बारे में बहुत कुछ बता देती है। यहाँ आप देख सकते है कि कौनसे ads असल में आपके लिए कमाई कर रहे है और कौनसी ad unit केवल जगह घेर रहे है। सामान्यतः इस प्रकार के 10% विज्ञापन हटा देने से भी आपके revenue पर केवल 1% का फर्क पड़ेगा क्योंकि इन से कमाई भी काफी कम होती हैं। अतः बेहतर होगा थोड़ी जांच पड़ताल करें और ऐसे विज्ञापनों को हटा दें ताकि आपके visitors को केवल quality ads दिखाये जा सके।

जैसा कि आप यहां देख सकते है केवल 5% ad requests का RPM $1.79 या उससे ऊपर है और अन्य ad request का औसत RPM $0.20 है। analyze करते समय अपने AdSense प्रोफाइल पर बारीक नजर रखना काफी आवश्यक है। जैसे यदि आपने कुछ AdSense category को ब्लॉक कर दिया है और जानना चाहते है कि क्या ऐसा करने से आपको कुछ फायदा हुआ या नहीं तो यह सब आप आसानी से अपनी revenue profile में जाकर देख सकते हैं।  

16. Video Content की शुरुआत करना

Video content काफी लोकप्रिय होता जा रहा है और बहुत से लोग video content को text content से ज्यादा देखना पसंद कर रहे है। video के लिए Adx standard, in-stream और overlay (text, image, flash) ads ऑफर करता है जिसकी सहायता से आप अपने वीडियो से कमाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी वेबसाइट में jwplayer को integrate करना होगा और खुद के लिए नए वीडियो बनाने होंगे। इससे यह उसी traffic से  आपके लिए कमाई का एक और नया रास्ता बन जायेगा। यदि आपको वीडियो बनाने का अनुभव नहीं है तो इसके लिए आप वीडियो content बनाने वालों से हाथ मिला सकते है और इसके लिए उन्हें revenue में हिस्सेदारी ऑफर कर सकते हैं। सामान्यतः पोस्ट की शुरू के 20% हिस्से में वीडियो लगा देने भर से ही आपका 80% traffic कवर हो जायेगा। यदि आपके ब्लॉग पर हर दिन 30,000 से 40,000 traffic आता है तो मैं आपको video content इस्तेमाल करने का सुझाव दूंगा।

17. Pagination (पोस्ट के एक से ज्यादा भाग बनाना) का इस्तेमाल

यदि आप बहुत बड़े पोस्ट लिखते है, तो उन्हें अच्छी तरह गूगल द्वारा इंडेक्स किये जाने के बाद आप उन्हें 2 – 3 भागों में बाँट सकते है। ऐसा करने से मेरा traffic 15% तक बढ़ गया था। ऐसा करना जरुरी भी हो जाता है क्योंकि लंबे पोस्ट होने पर Google आपके ads को auto-refreshing करने की अनुमति नहीं देता है और इससे बड़े पोस्ट में ads पर लोगों का ध्यान ही नहीं जाता है और उन्हें कम क्लिक मिलते है। ऐसा बहुत से publishers आज कल कर रहे है ताकि उनके बड़े पोस्ट से उसी प्रकार की कमाई भी हो सके।

18. सुनिश्चित करें कि ads हमेशा दिखाई दें

AdSense हमेशा आपके लिए विज्ञापन नहीं दिखा पाता है है ऐसा दरअसल आपके द्वारा चुनी गई category के लिए पर्याप्त advertisers नहीं होने के कारण होता है। जैसा कि आप देख सकते है मेरे ब्लॉग पर fill rate 92% है, ऐसी स्थिति में आप कोई backup ad network का इस्तेमाल कर सकते हैं।  ऐसे बहुत से अच्छे CPM और CPC आधारित ad networks है और ऐसी स्थिति में आपके सहायक हो सकते है। Adhitz एक CPC network है। इसके अलावा आप native ad networks का इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही यहाँ क्लिक करके आप लोकप्रिय native ad network की लिस्ट और उनके बारे में अधिक जान सकते हैं।

19. क्या आप Google Consumer Surveys चला रहे है

Google Consumer Surveys गूगल का एक business product है जो market research  की सुविधा देता है। इसकी सहायता से Publishers अपनी वेबसाइट पर गूगल द्वारा दिखाये जाने वाले छोटे सर्वे लगाकर $20-$30 तक RPM कमा सकते हैं, कीमत का आधार आपके ट्रैफिक की क्वालिटी के आधार पर तय होता हैं। हालांकि यह सुविधा केवल अमेरिका, इंग्लैंड, स्पेन, यूरोप इत्यादि कुछ ही देशों के publishers के लिए उपलब्ध है, आशा करते है जल्द ही अन्य देश इसमें जोड़ दिए जाएंगे।

तो ये थे वे कुछ जरुरी सुझाव जिनकी सहायता से आप अपने AdSense revenue को बढ़ा सकते हैं। इस पोस्ट में हम नए नए सुझाव लगातार जोड़ते रहेंगे, यदि हम कोई महत्वपूर्ण बात शामिल करना भूल गए है तो आप कमेंट के द्वारा बता सकते है। साथ ही कैसा लगा आपको हिंदी में यह पोस्ट आपकी शिकायत और सुझाव अवश्य बताएं!

6 Comments
  1. Reply
    Haroon February 6, 2017 at 6:44 am

    I have approved adsense account for english website. Can I use that adsense account for hindi website?

  2. Reply
    Mala sinha March 3, 2017 at 12:15 pm

    i have a hindi health website and i used almost all the trick that you explained in this detailed and well written article. Previously i was getting 0.05-0.08 cpc from the adsense and that time i was getting only 20 clicks, but now a days i am getting 0.02 cpc with 80- 100 clicks. so please tell me the reason why i am getting this cpc. please help me.

    • Reply
      Abhishek Dey March 12, 2017 at 7:44 am

      get in touch with me over skype. My id is ronniedey

  3. Reply
    Mala sinha March 3, 2017 at 12:19 pm

    Hello sir,
    main low cpc se bahut pareshan hoon, jaise jaise mera traffic badh raha hai aur click badh rahe hain, aur cpc kam hota ja raha hai, mainapne blog par sab karke dekh liya hai, fir bhi koi farak nahi aata, balki cpc kam ho jati hai.
    Aap mujhe solution de de.. agar aap yaha ans nahi dena chahte hain to aap mujhe email kar de, jisse main is pareshani se nikal saku.

    • Reply
      Abhishek Dey March 12, 2017 at 7:41 am

      Indian audience means low cpc unless you target high paying niche

Leave a reply